मंगलवार, 17 जनवरी 2017

आरबीआई ने एटीएम से कैश निकालने की सीमा 4500 रूपये से बढ़ाकर 10000 रुपये की

भारतीय रिजर्व बैंक ने एटीएम से कैश निकालने की सीमा 4500 रूपये से बढ़ाकर 10000 रुपये की


भारतीय रिजर्व बैंक ने नोटबंदी के 65 दिन बाद दूसरी बार एटीएम से नगदी निकासी की सीमा बढ़ा दी। अब हरेक एटीएम कार्ड से एक दिन में 10 हजार रूपये निकाले जा सकेंगे, लेकिन सप्ताह में पहले की तरह 24 हजार रूपये ही निकाले जा सकेंगे। मौजूदा समय यह सीमा 4500 रूपये थी। इसके अलावा चालू खाते की सीमा भी बढ़ा दी गई है।

आरबीआई ने चालू खाते पर निकासी की सीमा बढ़ाकर एक लाख रूपये कर दिया है। पहले हफ्ते में 50 हजार रूपये निकाले जा सकते थे जबकि अब लाख रूपये की निकासी होगी। नए साल में यह दूसरा मौका है जब रिजर्व बैंक ने नगदी निकासी की सीमा में इजाफा किया है।

पहले एक जनवरी को एटीएम नगदी निकासी की सीमा को 2500 रूपये प्रतिदिन से बढ़ाकर 4500 रूपये किया गया था। हालांकि सप्ताह में नगदी निकासी की सीमा को नोटबंदी के बाद एक बार भी नहीं बढ़ाया गया है। याद रहे कि 8 नवंबर की रात 500 और हजार रूपये के पुराने नोटों को कानूनी रूप से अवैध घोषित किए जाने के बाद से बैंक और एटीएम से नगदी निकासी की सीमा तय की गई थी।

रिजर्व बैंक ने हालांकि अभी तक बचत खातों से 24 हजार रूपये निकालने की सीमा को नहीं बढ़ाया है और कोई भी व्यक्ति अपने बचत खाते से सप्ताह में सिर्फ 24 हजार रूपये ही निकाल सकता है। देश में कई स्थान ऐसे भी हैं जहां बैंक लोगों को 24 हजार रूपये भी नहीं मुहैया करा रहे हैं।

आरबीआई द्वारा आज निकासी की सीमा पर नगदी की किल्लत में सुधार आने के मद्देनजर वित्त मंत्रालय से विचार-विमर्श के बार सर्कुलर जारी किया गया है। दूसरी ओर सरकार डिजिटल लेनदेन को बढ़ाने के लिए विभिन्न स्तरों पर विचार कर रही है। जबकि डिजिटल भुगतान में छूट और कोई शुल्क नहीं लगाए जाने जैसे कदम भी उठाए गए हैं। इसके अलावा सरकार ने यूपीआई, आधार पर आधारित भुगतान समेत अन्य सरकारी माध्यमों से भुगतान पर ईनाम की घोषणा भी की है।

Popular/Trending News