मंगलवार, 25 अप्रैल 2017

कैलाश सत्यार्थी को पी सी चंद्रा पुरस्कार से सम्मानित किया गया

नोबल शांति पुरस्कार विजेता कैलाश सत्यार्थी को पी सी चंद्रा पुरस्कार 2017 से सम्मानित किया गया

नोबल शांति पुरस्कार विजेता कैलाश सत्यार्थी को पी सी चंद्रा पुरस्कार 2017 से सम्मानित किया गया

नोबल शांति पुरस्कार विजेता कैलाश सत्यार्थी को पी सी चंद्रा पुरस्कार से सम्मानित किया गया।

सत्यार्थी को यह सम्मान उनके द्वारा बाल मजदूरी एवं बंधुआ मजदूरी को समाप्त करने के लिए वैश्विक स्तर पर चलाये जा रहे अभियान के कारण दिया गया।

कैलाश सत्यार्थी (63 वर्षीय) को पुरस्कार स्वरुप कोलकाता में एक प्रशस्ति पत्र, एक ट्रॉफी एवं 10 लाख रुपये का एक चेक दिया गया।

कैलाश सत्यार्थी के बारे महत्वपूर्ण तथ्य:

  • कैलाश सत्यार्थी का जन्म 11 जनवरी 1954 को मध्य प्रदेश के विदिशा में हुआ।
  • वे बाल अधिकार कार्यकर्ता और बाल-श्रम के विरुद्ध पक्षधर रहे हैं। 
  • उन्होंने वर्ष 1980  में बचपन बचाओ आन्दोलन की स्थापना की जिसके बाद से वे विश्व भर के 144 देशों के 83000 से अधिक बच्चों के अधिकारों की रक्षा के लिए कार्य कर चुके हैं।
  • सत्यार्थी के कार्यों के कारण ही वर्ष 1999 में अंतरराष्ट्रीय श्रम संघ द्वारा बाल श्रम की निकृष्टतम श्रेणियों पर संधि सं॰182 को अंगीकृत किया गया। यह संधि दुनियाभर की सरकारों के लिए इस क्षेत्र में एक प्रमुख मार्गनिर्देशक है।
  • उनके कार्यों को विभिन्न राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय सम्मानों व पुरुस्कारों द्वारा सम्मानित किया गया है।
  • उन्हें वर्ष 2014 का नोबेल शान्ति पुरस्कार से सम्मानित किया जा चुका है। यह नोबल पुरस्कार उन्हें पाकिस्तान की नारी शिक्षा कार्यकर्ता मलाला युसुफ़ज़ई के साथ सम्मिलित रूप से प्रदान किया गया।
  • मदर टेरेसा को 1979 में मिले नोबल शांति पुरस्कार के बाद यह सम्मान प्राप्त करने वाले वे दूसरे भारतीय हैं।

Tags

Popular/Trending News