गुरुवार, 11 मई 2017

मून जे इन साउथ कोरिया के नए राष्ट्रपति बने

डेमोक्रेटिक पार्टी ऑफ कोरिया के मून जे इन ने कोरिया के नए राष्ट्रपति पद की शपथ ली

डेमोक्रेटिक पार्टी ऑफ कोरिया के मून जे इन ने कोरिया के नए राष्ट्रपति पद की शपथ ली

दक्षिण कोरिया में राष्ट्रपति चुनाव में डेमोक्रेटिक पार्टी ऑफ कोरिया के मून जे इन ने जीत दर्ज कर ली है। इसी के साथ दक्षिण कोरिया में कंजरवेटिव शासन का अंत हो गया है। मून जे इन के रूप में साउथ को कोरिया को नए राष्ट्रपति मिल गए हैं।  मून एक उदारवादी विचारधारा के नेता माने जाते हैं।

दक्षिण कोरिया के नए राष्ट्रपति मून जे इन ने चुनाव में मिली भारी जीत के एक दिन बाद 10 मई 2017 को शपथ ग्रहण की। शपथ लेने के ठीक बाद उन्होंने परमाणु हथियारों से लैस उत्तर कोरिया के साथ तनावपूर्ण संबंधों के बीच प्योंगयांग जाने की इच्छा जताई।

इन्हे भी पढ़े: इमैन्युएल मैक्रॉन बने फ्रांस के सबसे युवा राष्ट्रपति

बता दें कि उत्तर कोरिया के साथ तनाव के माहौल में संपन्न हुए इस चुनाव में डेमोक्रेटिक पार्टी ऑफ कोरिया के उम्मीदवार और उदारवादी विचारधारा के 'मून जे इन ' को मध्यमार्गी विचारधारा के आह्न चेओल-सू से कड़ी टक्कर रही। मून जे इन उत्तर कोरिया के साथ अच्छे संबंध बनाने के पक्षधर हैं। जबकि पूर्व राष्ट्रपति पार्क गून हे ने उत्तर कोरिया के साथ सभी संबंधों को खत्म करना चाहते थे। 64 वर्षीय मून इससे पूर्व 2012 में भी राष्ट्रपति चुनाव लड़े थे। लेकिन तब वे पार्क गून हे से पराजित हो गए थे।

राष्ट्रीय चुनाव आयोग के अनुसार मतदाताओं ने डेमोक्रेटिक पार्टी के मून को 42.2 प्रतिशत मत का समर्थन दिया। जबकि मून के प्रतिद्वंद्वी होंग जून-प्यो को सिर्फ 25.2 प्रतिशत मत मिले और आह्न चेओल-सू को 21.5 प्रतिशत मत मिले।

Popular/Trending News